Main Article Content

Abstract

अंग्रेजी भाषा में  श्स्मंकमतश् शब्द का अर्थ श्व्दम ूीव समंकेश् है। वस्तुतः मनुष्य में आत्म प्रदर्शन की प्रवृति मूल रूप से होती है। यही मूल प्रवृति नेतृत्व शक्ति को जगाने में अत्यधिक सहायक होती है। व्यक्ति अपने कुछ वैयक्तिक गुणों के आधार पर ही नेता नहीं बनता अपितु नेता के वैयक्तिक गुणों का सम्बन्ध अनुयायियों के उद्देश्य, कार्यों आदि से भी होना परम आवश्यक है। शिक्षा प्रशासन में सफल नेतृत्व के महत्त्व को भी स्वीकार किया गया है। विज्ञान, तकनीकी तथा शैक्षिक विचारधाराओं में परिवर्तन के साथ ही साथ शिक्षा प्रशासन में नेतृत्व की मांग बढ़ रही है। यह निश्चित है कि नेतृत्व के अभाव में वांछित सफलता संदिग्ध ही रहती है।

Article Details