Journal Details Journal Title (in English Language) Nibandha Mala Journal Title (in Regional Language) निबन्धमाला Publication Language Sanskrit Publisher Hindi Journals ISSN 2277-2359 mail id editor@hindijournals.org Discipline Arts and Humanities Subject Arts and Humanities (all) Focus Subject Language and Linguistics

Published: Feb 6, 2020

राजस्थान के जाम्भाणी संस्कृति साहित्य मे पर्यावरण संरक्षण चेतना

1-15 डॉ समणी संगीत प्रज्ञा, निर्मला शर्मा
PDF

गत दशक के नारी लेखन की दिशाएँ और नासिरा शर्मा

16-20 के. विजय कुमारि
PDF

तृतीय पंथीयांच्या आरोग्यासाठी शास्त्रशुध्द योग

21-25 श्री. रविंद्र नाईक
PDF

माध्यमिक स्तरातील खेळाडू मुली व इतर मुलींच्या शैक्षणिक कार्यमानाचा तुलनात्मक अभ्यास

26-30 डॉ. प्रतिभा ढाके, प्रानिलेश डी. जोशी.
PDF

पुणे जिल्ह्यातील राष्ट्रीय रायफल शुटींग खेळाडूंच्या कार्यमानावर निवडक प्राणायामाचा होणाऱ्या परिणामांचा अभ्यास

31-35 दिपक प्रकाश सौदागर
PDF

योगाचा व्यक्तिमत्व विकासावर होणारा परिणाम

36-37 वंदना हरीभाऊ जाधव
PDF

" शरीर-मन- श्वास शास्त्रीयद्दष्टया योग "

38-41 डॉ. दत्ता शिंपी‍
PDF

उत्तम आरोग्यासाठीची शुद्धिक्रीया बस्ति

42-46 श्री. सुनिल आहेर
PDF PDF

योगाद्वारे होते आरोग्य संवर्धन

47-53 हेमंत कौतिक काळे
PDF

मूल्यों की अभिधात्मकता और वर्गीकरण

54-59 डॉ अमिता जैन
PDF

सामाजिक उत्थान में गैर सरकारी संगठनों की भूमिका

60-69 डॉ बिजेन्द्र प्रधान, डॉ विकास शर्मा, डॉ पुष्पा मिश्रा
PDF

भ्रष्टाचार नियंत्रन में लोकायुक्त की भूमिका का विश्लेषणात्मक अध्ययन

70-75 प्रमोदकुमार नंदेश्रवर
PDF

स्वदेशी-सांस्कृतिक शिक्षा एवं महिला सशक्तिकरण

76-81 सुरेन्द्र कुमार पारीक
PDF

राजस्थान के विकास में पंचायत राज सस्ंथाओं की भूमिका

82-87 राजेश कुमार तिलकर
PDF

श्रीमद्भगवद्गीता में आध्यात्मिक ज्ञान

88-96 निधि सोनी
PDF

झारखण्ड राज्य की करमाली जनजाति : एक मानवशास्त्रीय अध्ययन

97-106 दिव्या भारती, गंगा नाथ झा
PDF

धार्मिक प्रावधान, आधुनिक कानून एवं स्त्री संचेतना

107-109 सुरेन्द्रा कुमारी
PDF

पारिवारिक तनाव का परिवार, व्यक्ति तथा बच्चों पर प्रभाव

110-114 डा0 मनीषा कुमारी
PDF

गांधीयुग की पत्रकारिता और विश्वमित्र

115-120 चांदनी कुमारी
PDF

विद्यमान सामाजिक परिवेष एवं पुलिस प्रशासन

121-127 डा0 राजीव कुमार
PDF

संगीत मे नवीन प्रवृत्तीयों का प्रभाव

128-131 डाॅ. प्रिती मंगेश कुलकर्णी
PDF

राजस्थान के विकास में पंचायत राज सस्ंथाओं की भूमिका

132-137 राजेश कुमार तिलकर
PDF

श्रीमद्भगवद्गीता में आध्यात्मिक ज्ञान

138-146 निधिसोनी
PDF

संत गरीबदास का सामाजिक-चिन्तन

147-159 डॉ. सुनील कुमार
PDF

नासिरा शर्मा की ‘ मेरी प्रिय कहानियाँ ’ में समाज एवं संस्कृति

160-168 डॉ. पठान रहीम खान
PDF

चंद्रकांत देवताले की कविताओं में नव वामपंथी विमर्श

169-177 षैजू के
PDF

भारतीच्या षेती क्षेत्राच्या विकासातील प्रादेशिक विशमता

178-185 डाॅ. अनिल धोंडीराम सत्रे
PDF

ऑनलाईन शॉपिंगकडे ग्राहकांचा वाढता कल: सांगली शहराचा विशेष अभ्यास

186-195 डाॅ. प्रकाश यशवंत बुरूटे
PDF

पर्यटन उद्योगः भारतातील सेवा क्षेत्राचा कणा

196-200 वाल्मिक दगडू परहर
PDF

वाळवा तालुक्यातील दुध उत्पादकांच्या सामाजिक-आर्थिक स्थितीचा

201-210 वसंत मोरे
PDF

भारताच्या बॅंकिंग क्षेत्रातील नवीन प्रवाह

211-213 अनिल पंढरीनाथ कांबळे
PDF

गटशेती: काळाची गरज

214-217 श्री इंद्रजित ऐवळे
PDF

भारतीय भातपिकातील नविन बदल

218-223 श्री. कांतीलाल शंकर पाटील, डाॅ. अनिल नारायण पाटील
PDF

ग्रामीण भागाच्या विकासातमहिलांचे योगदान

224-229 प्रा. कारंडे आर. व्ही.
PDF

महाराष्ट्रातील प्लास्टिक वापर व परिणाम

230-235 Suhas Mohan More, Dr . Sanjay Shankar Yadav
PDF

भारताचा आंतरराष्ट्रीय व्यापारातील अलीकडील कल

236-243 लता कमलापुरे
PDF

भारतीय अर्थव्यवस्थेमध्ये सेवाक्षेत्राकडे लक्ष शेतीकडे दुर्लक्ष

244-249 प्रसाद पांडुरंग दावणे
PDF

नवीन आर्थिक सुधारणानंतरचे शरतीय बँकिंग उद्योगातील आधुनिक प्रवाह

250-255 प्रविण पी. डांगे
PDF

‘‘महाराष्ट्राच्या कृषि अर्थव्यवस्थेत सागरी मत्स्य व्यवसायाचे योगदान’’

256-267 सिताफुले एल. एस.
PDF

शाश्वत शेती विकासासाठी सेंद्रिय षेतीचे योगदान एक विश्लेषणात्मक अध्ययन

268-272 डाॅ. सुनिल बाळू घुगे
PDF

भारतीय अर्थव्यवस्थेतील मौल्यवान धातूच्या किंमतीतील प्रवृत्तीचा अभ्यास

273-278 डाॅ.जयश्री सदाशिव चव्हाण
PDF

भारतातील महिलांची सद्यस्थिती आणि आव्हाने

279-285 संगिता साहेबराव बोरसे
PDF

ग्रामीण विकास योजनांचा शेतमजुरांना होणारा लाभ

286-292 ज्योती वसंत साठे
PDF

कृषीमाल किमान आधारभुत किंमतः.वास्तवीकता

293-296 Dr. Kadam Sambhaji Kisan
PDF

भारतीय शेतीतील उदयोन्मुख (कल) प्रवृत्तींचे अध्ययन

297-300 डॉ.डी.एन.सोनवणे
PDF

भारतीय शेतीतील आधुनिक प्रवाह : सेंद्रिय शेती

301-308 कु.माधुरी परशराम देशमुख , श्री.महेश रामदास भदाणे
PDF

आर्थिक सुधारणा व बॅंकांचे विलनीकरण

309-314 डाॅ.हासिम वलांडकर
PDF

भारतीय कृशीक्षेत्रातील अलिकडील प्रवृत्ती

315-318 डाॅ. मुरलीधर पंडीत गायकवाड
PDF

नवीन आर्थिक धोरण आणि भारतातील लघू उद्योगापुढील प्रश्न आणि उपाययोजना

319-323 डाॅ. ए. एस. नलवडे
PDF

भारतीय कृषीक्षेत्रातील अलिकडीलकल

324-330 नाथीराम लक्ष्मण राठोड
PDF

आर्थिक विकास आणि पर्यावरण अवनती

331-335 डॉ.राजाराम महादेव थोरात
PDF

भारताच्या कृशी विकासात जैवतंत्रज्ञानाचे महत्व

336-338 डाॅ.सुरेष त्रिं.सामाले
PDF

भारतातील बेरोजगारी एक चिकित्सक समाजशास्त्रीय अभ्यास

339-344 डाॅ. संजय हिंदुराव शिंदे
PDF

भारतीय बॅंकिंग प्रणालीतील अलिकडील प्रवाह

345-351` डाॅ.शेळके मदन लक्ष्मण
PDF

व्यापारी भूगोलातील आधुनिक प्रवाह

352-356 श्रीमती. आर. एन नाठे
PDF

हिंदी उपन्यासों में दलितों का आक्रोश

357-359 पाटील कैलासकुमार गुंडोपंथ
PDF

हिन्दी साहित्य और भारतीय समाज

360-362 डाॅ. जयलक्ष्मी एफ. पाटील
PDF

हिंदी साहित्य में आदिवासी विमर्श

363-366 शहनाज महेमुदशा सय्यद
PDF

भारतीय समाज में नारी का महत्व

367-371 डाॅ0 मणीष कुमार भारती
PDF

हिंदी साहित्य और भारतीय समाज में नारी की सामाजिक, धार्मिक स्थिती

372-375 वैशाली सुधाकर झगडे
PDF

जातियता के दाह में झुलसता युवा मन

376-381 विकास विलासराव पाटील
PDF

चित्रा मुद्गल के ‘आवां’ उपन्यास में नारी की परिवर्तित सामाजिक स्थिति

382-385 वृषाली विकास मिणचेकर
PDF

प्रेमचंद की कहानियों में उद्घाटित सामाजिक विषमता

386-390 संगीता विष्णु भोसले
PDF

‘कठगुलाब’ उपन्यास में नारी

391-394 सिद्राम कृष्णा खोत
PDF

स्त्री का मनोबल बढाता नाटक-सकुबाई

395-399 रूकसाना अल्ताफ पठाण
PDF

दलित समाज के प्रति सवर्णों की मानसिकता का यथार्थ अंकन :- आगे रास्ता बंद है

399-402 डॉ.मालोजी अर्जुन जगताप
PDF

तृतीय लिंगीयो के संघर्शमय जीवन का विवेचन सामाजिक

403-409 स्नेहलता सदाशिव पुजारी
PDF

‘संशयात्मा’ काव्यसंग्रह में अभिव्यक्त ग्रामीण समाज

410-412 रेवनसिध्द काशिनाथ चव्हाण
PDF

दलित आंदलनों में हिंदी कविताओं का योगदान

413-418 डाॅ. मिलिंद साळवे
PDF

सच्चाई का दस्तावेज -‘संतप्त’ दलित आत्मकथा

419-423 डाॅ. दिलीपकुमार कसबे
PDF

हिन्दी साहित्य और भारतीय समाज

424-430 डाॅ0 राधिका कुमारी
PDF

‘आदिवासी गामीत समाज’

431-434 डॉ. अनिल पी गामीत
PDF

‘इक्कीसवीं सदी का हिन्दी उपन्याससाहित्य’ - नारी विमर्श

435-438 माधुरी षिवाजीराव पाटील
PDF

हिंदी साहित्य और भारतीय समाज: दलित साहित्य में अभिव्यक्त सामाजिक समानता, सामाजिक विशमता

439-443 हिमालया सुनील सकट
PDF

समकालीन कथा साहित्य में व्यक्त किन्नर विमर्श

444-451 डाॅ.पंउित साहेबराव गायकवाड
PDF

चित्रा मुद्गल के ‘आवां’ उपन्यास में नारी की परिवर्तित सामाजिक स्थिति

452-455 वृषाली विकास मिणचेकर
PDF

”हिंदी साहित्य और भारतीय समाज“

456-458 सी. एम. जठार
PDF

साठोत्तरी हिंदी कविता में दलित स्वर

459-461 डॅा. नाजिम षेख
PDF

‘शैलूष’ उपन्यास में चित्रित नारी कें विविध रूप

462-467 डाॅॅ. मनीषा जाधव
PDF

‘‘ निर्मला पुतूलकी कविताओ मंे स्त्री चिंतन‘‘

468-472 डा. सुभाष राठोड
PDF

“जावेद पाशा कुरेशी की कविता में चित्रित दलित-चेतना”

473-476 डॉ.ताम्बोली एस.बी.
PDF

मोहनदास नेमिषराय के साहित्य में दलित चित्रण

477-480 सौ. मानसी संभाजी शिरगांवकर
PDF

‘‘हिंदी साहित्य का प्रथम थर्ड जेंडर उपन्यास ‘यमदीप’ शीर्षक की सार्थकता’’

481-483 बाबासाहेब तुकाराम साबले
PDF

‘‘हिन्दी साहित्य में दलित विषमता का चित्रण‘‘

484-488 पुष्पा गोविंदराव गायकवाड
PDF

बंजारा समुदाय की संस्कृति पर शिक्षा के प्रभावों का विश्लेषणात्मक अध्ययन: महाराष्ट्र के यवतमाल जिले के विशेष संदर्भ में

489-496 निता चांगदेव देषभ्रतार
PDF

हिंदी दलित आत्मकथा ‘दोहरा अभिशाप’ (कौसल्या बैसंत्री) के विशेष संदर्भ में

497-499 डाॅ. सौ. भिंगारदेवे लीला रामचंद्र
PDF

अंतिम दशक की कहानियो में दलित चेतना

500-503 डाॅ. दत्ता शिवराम साकोले
PDF

दलित महिलाओं का स्वास्थ्य एवं पोषणः नागपुर जिले का वैयक्तिक अध्ययन

504-508 दर्शना मेश्राम
PDF

समकालीन हिंदी कविता: सामाजिक विमर्श

509-513 बहिरम देवेंद्र मगनभाई
PDF

वर्तमान परिदृश्य में भारतीय आदिवासियों की शैक्षणिक समस्याएं

514-517 डाँ मुमताज बी.एम
PDF

भारतीय साहित्य में दलित विमर्श

518-521 डाॅ.एम.ए.येल्लूरे
PDF

‘नारी विमर्श के परिपेक्ष्य में ‘दौड’: एक विश्लेषण

522-526 शैलजा पांडुरंग टिळे
PDF

‘‘वर्तमान समाज, साहित्य और थर्ड जेंडर’’

527-530 संजय पिराजी चिंदगे
PDF

दलित कहानी साहित्य पर आंबेडकरवाद का प्रभाव

531-537 डॉ.विजय विष्णू लोंढे
PDF

डाॅ. अमृत कौर ‘बिन्दुसार’ के काव्य में अभिव्यक्त नारी

538-542 डाॅ. विनायक बापू कुरणे
PDF

इक्कीसवीं सदी की हिंदी स्त्रीवादी कविता में अभिव्यक्त सामाजिक विषमता

543-545 मुंडे डी.के.
PDF

मन्नू भंडारी की कहानियों में बदलते स्त्री-पुरूष संबंध

546-550 दिग्विजय टेंगसे
PDF

कृष्णा सोबती के उपन्यासों में नारी समस्याएँ

551-556 प्रा. नितेश गांगवे
PDF

हिंदी व्यंग्य साहित्य में उदघाटित सामाजिक विषमता

557-560 श्री. अंकुश जयवंत शेलार
PDF

थारूओं का उत्पीड़न एवं जीवन संघर्श: (जंगल जहाँ शुरु होता हैं के विशेष संदर्भ में)

561-564 डाॅ. अजयकुमार कृष्णा कांबले
PDF

महिला आत्मकथा और नारी विमर्श

565-570 डाॅ. गिरीश काशिद
PDF

इक्कीसवीं सदी के प्रथम दशक उपन्यासों में दलित विमर्श

571-579 डॉ.भूपेंद्र सर्जेराव निकालजे
PDF

आधुनिक हिंदी उपन्यास और आदिवासी संस्कृति

580-585 डाॅ संजय नाईनवाड
PDF

हिंदी कथा साहित्य में स्त्री विमर्श

586-589 डाॅ.गोरखनाथ किर्दत
PDF

”राहुल सांकृत्यायन के कथा-साहित्य में चित्रित बौद्ध धर्म“

590-593 लेफ्टनंट डाॅ. रविंद्र पाटील
PDF

हिंदी उपन्यासों में चित्रित कृषक जीवन और आर्थिक विषमता

594-598 डाॅ. किर्दत संदीप जोतिराम
PDF

भारतीय समाजगत विसंगतियों के परिप्रेक्ष्य में ‘राग दरबारी’’

598-601 डाॅ. आँचल श्रीवास्तव, प्रज्ञा सिंह
PDF

‘‘दलित आत्मकथाओं का सामाजिकता के परिप्रेक्ष्य में अनुशीलन’’ (‘गैंगमैन’के विशेष संदर्भ में )

602-608 राजेन्द्र ज्ञानदेव ननावरे
PDF

महिला आत्मकथाकारों का पारिवारिक संघर्ष

609-613 प्रकाश आठवले
PDF

थर्ड जेंडर: अस्मिता-संघर्ष

614-620 नयन भादुले-राजमाने
PDF

‘‘ तडप मुक्ति की नाटक में प्रतिबिंबित अम्बेडकरवादी विचार ’’

621-623 भिमाशंकर लक्ष्मण गायकवाड
PDF

‘‘ज्ञानेंद्रपति के काव्य में अभिव्यक्त समाज’’

624-627 चतुर्भूज गिड्डे
PDF

हिंदी यात्रा साहित्य में हिंदू धर्म

628-33 डाॅ. विक्रम रामचंद्र पवार
PDF

हिन्दी साहित्य में धर्म एवं ईष्वरीय प्रेम की अभिव्यक्ति

634-637 डाॅ. स्नेहलता निर्मलकर, शाहिद हुसैन
PDF

हिंदी दलित कविता संग्रह ‘अब तो जागें’ में चित्रित सामाजिक विषमता

638-641 रगडे पी. आर.
PDF

हिंदी साहित्य और भारतीय समाज

642-644 सरला सुदाम गोसावी
PDF

हिन्दी साहित्य में किन्नर चिंतन

645-650 डाॅ. रेखा दुबे
PDF

भारतीय समाज और हिंदी उपन्यास

651-655 प्रा.शिवाजी उत्तम चवरे
PDF

हिंदी दलित कविता में विषमता विरोध

656-660 डाॅ. नवनाथ शिंदे
PDF

संजीव के उपन्यास में आदिवासी विमर्श (‘ धार ’ उपन्यास के विशेष संदर्भ में )

661-663 अशोक गोविदराव उघडे
PDF

किन्नर व्यथा की कथा को स्पश्ट करता ‘रेतसमाधि’ उपन्यास

664-668 श्रीमंडले वैशाली शिवाजीराव
PDF

‘रंग और व्यग्य‘नाटक में अभिव्यक्त सामाजिक विषमता

669-673 प्रा. किसन भानुदास वाघमोडे
PDF

हिन्दी कथा साहित्य में पिछड़ा वर्ग

674-679 प्रा. उमेश बेलकी
PDF

मोहनदास नैमिशराय के कथा साहित्य में दलित संघर्ष

680-684 श्रीकांत एस. महाजन
PDF

माध्वी-कन्नगी उपन्यास में स्त्री पक्ष

685-689 डाॅ.जी.शांति
PDF

दलित साहित्य में उन्नत बुद्धिबल एवं नारी चेतना

690-695 डाॅ.राजाराम कानडे
PDF

21 वीं सदी के हिन्दी कहानियों में चित्रित दलित नारी की त्रासदी (ओमप्रकाश वाल्मीकि के संदर्भ में)

696-698 विक्रम बालकृष्ण वारंग
PDF

विजय की कहानियों में ग्रामीण जीवन

699-701 यमुना.एम.पी
PDF

ओमप्रकाश वाल्मीकि के आत्मकथा ‘जूठन’ में चित्रित सामाजिक विषमता

702-705 निलम अमोल भोसले
PDF

आधुनिक हिंदी साहित्य में चित्रित दलित वर्ग

706-710 डॉ. कृष्णात आनंदराव पाटील
PDF

आदिवासी उपन्यास: सूरज किरण की छांवँ एक अवलोकन

711-714 डाॅ. मा.ना.गायकवाड
PDF

सामाजिक विषमता की आत्मकथा -‘दोहरा अभिशाप’

715-718 डाॅ एम. जे. शिवदास
PDF

वर्तमान संदर्भो में समाज में साहित्य की भूमिका

719-723 श्रीमती मंजू भट्ट , डाॅ. श्रद्धा हिरकनें
PDF

आदिवासी साहित्य में प्रकृति पूजन तथा मानवतावाद

724-726 डॉ प्रशांत नलावडे
PDF

’’हिंदी साहित्य में अभिव्यक्त नारी की सामाजिक असमानता’’

727-730 रोहिणी रामचंद्र सालवे
PDF

’’ लघु एवं बृहद् परिवारों के छात्राओं के पारिवारिक संबधों का उनके सृजनात्मकता एवं शैक्षिक उपलब्धि पर प्रभाव का अध्ययन’’

731-740 ज्योति, डॉ. शिवकान्त शर्मा
PDF

स्वदेशी-सांस्कृतिक शिक्षा एवं महिला सशक्तिकरण

741-746 सुरेन्द्र कुमार पारीक
PDF

मोबाईल अधिगम का बी.एड. प्रशिक्षणार्थियों की अभिवृत्ति पर प्रभाव का अध्ययन

747-759 मंजू
PDF

वाराणसी की अर्थव्यवस्था में पर्यटन उद्योग की उपादेयता

760-774 डाॅ0 सुनील मिश्र
PDF

‘‘छत्तीसगढ़ राज्य में पंचायतीराज व्यवस्था- एक अध्ययन” (विकास खण्ड मालखरौदा के ग्राम पंचायतों के विशेष संदर्भ में)

775-779 अरूंधती शर्मा
PDF

निराला के काव्य चिंतन के प्रेरक-स्रोत

780-784 डॉ आलोक प्रभात
PDF

शिक्षक शिक्षा के लिए अनुसंधान के रुझान में परिवर्तन

785-795 डॉ अजय कृष्ण तिवारी1
PDF

गांधी दर्शन में महिला सशक्तिकरण की अवधारणा

796-802 राखी प्रजापत
PDF

नालंदा जिला के सतत्‍ कृषि विकास में बदलते फसल संयोजन का प्रभाव : एक भौगोलिक विश्ले षण

803-813 हरेन्द्र कुमार सिंह
PDF

डाॅ. सुरेशचन्द्र शुक्ल के नाटकों में चित्रित स्त्री-पुरूष समानता

814-819 डाॅ.प्रमोद परदेशी
PDF

समकालीन हिंदी उपन्यासों में किन्नर जीवन-संघर्ष

820-825 श्रीमती सविता मिश्रा, अन्तिमा गुप्ता
PDF

सुषमा मुनींद्र के कहानी साहित्य में अभिव्यक्त सामाजिक विषमता

826-828 कु अलका ज्ञानेश्वर घोडके
PDF

विद्यासागर नौटियाल के कहानी साहित्य में सामाजिक विषमता

829-831 अमोल मोर
PDF

बंजारा एवं पारधी समाज में धार्मिक समानता

832-839 डाॅ. भारत श्रीमंत खिलारे
PDF

आदिवासी जीवन और हिंदी कहानी

840-842 डाॅ.श्री सुब्राव नामदेव जाधव
PDF

हिंदी उपन्यासों में दलित वर्ग ‘दोहरा अभिशाप’ उपन्यास के परिप्रेक्ष में

843-846 सौ. आशाराणी आण्णासो हावले
PDF

बंजारा समाज और लोकगीतों का विश्लेषन

847-852 डाॅ. व्ही. पी. चव्हाण
PDF

ʻ21 वीं सदी के प्रथम दशक के हिंदी उपन्यासों में अभिव्यक्त आदिवासी एवं जनजातीय जीवनʼ

853-856 डॉ.भोसले आर.पी
PDF

हिंदी उपन्यास साहित्य में नारी विमर्श

857-860 सौ.सविता शिवलिंग मेनकुदळे
PDF

कृष्णा सोबती के ‘ जिन्दगीनामा ’ उपन्यास मे चित्रित नारी पात्र

861-86 सुवर्णा नरसूु कांबळे
PDF

आदिवासी विमर्श परिभाषा, स्वरूप और व्याप्ति

867-878 डाॅ.पंडित बन्ने
PDF

हरिवंश राय बच्चन की रचनाओं में अभिव्यक्त सामाजिक धार्मिक समानता

879-882 कुसुमलता प्रजापति, डाॅ. आँचल श्रीवास्तव
PDF

‘‘ स्त्री-विमर्ष और सीता: ‘कितने प्रश्न करूँ‘ के संदर्भ में ‘‘

883-885 डाॅ. किशोर पवार
PDF

हिंदी साहित्य और घुमंतू समाज: ‘‘बंजारा’’

886-889 डाॅ.संग्राम यशवंत शिंदे
PDF

‘कितने प्रश्न करूँ’: नारी संबंधी पारंपरिक आदर्शवाद का खंडन

890-894 डा. जी.एस. भोसले
PDF

हिन्दी साहित्य में अभिव्यक्त किन्नारों की सामाजिक, धार्मिक विषमता

895-901 दत्तात्रय महादेव साळवे
PDF

”पद्मा सचदेव कृत ‘जम्मू जो कभी शहर था’ उपन्यास में चित्रित भारतीय समाज“

902-907 श्री. बिचुकले एस.एस.
PDF

‘मुक्तिपर्व’ उपन्यास में चित्रित दलित विमर्श

908-910 डाॅ.रीना पाटील
PDF

‘हिंदी कहानियों में चित्रित भारतीय समाज’

911-913 डुरे सुरज विठ्ठल
PDF

हिंदी उपन्यास में दलित विमर्श

914-917 कोळी. एस. टी
PDF

किन्नर विमर्श

918-921 डाॅ. आँचल श्रीवास्तव
PDF

‘घुमंतू समाज’ और उस समाज में आए सामाजिक पहेलीयाँ

922-924 गीता गौरव भांदिर्गे
PDF

‘मेरा बचपन मेरे कंधों पर’ आत्मकथा में चित्रित दलित संवेदना

925-928 डाॅ. अशोक मरळे
PDF

आधुनिक स्त्री विचारधारा का मिथक - द्रौपदी (मनु शर्मा के उपन्यासों के संदंर्भ में)

929-932 सचिन मदन जाधव
PDF

आदिवासी मिथकीय चरित्र

933-937 दिलीप गिरहे
PDF

मावची जनजातीय लोकगीतों में लोकसंस्कृति

938-941 गावीत राकेश राजु
PDF

गोस्वामी तुलसीदास के साहित्य में सामाजिक समानता

942-945 डाॅ वर्षा गायकवाड
PDF

नारी चेतना और आज के उपन्यास

946-950 एम. डी. नायकू
PDF

घुमंतू ”घिसाडी“ समाज का स्वरुप एवं वास्तव

951-955 डाॅ. भानुदास आगेडकर
PDF

हिंदी साहित्य और भारतीय समाज

956-960 डाॅ. जयश्री वाडेकर
PDF

हिंदी साहित्य का पिछडा वर्ग: समकालीन नारी जीवन

961-965 डाॅ. शोभा माणिक पवार
PDF

हिंदी उपन्यासों में धर्म

966-969 डाॅ.यादव नामदेव मोेरे
PDF

डॉ. नीरजा माधव की कहानियों में चित्रित सामाजिक विषमता

970-971 नवनाथ जगताप, डॉ. अनिल प्रभाकर कांबळे
PDF

निराला के काव्य में अछूतोद्धार और नारी जाति का सम्मान

972-977 नवनाथ जगताप
PDF

घुमन्तू समाज का विमर्ष

978-982 डॉ.शैलजा रमेश पाटील
PDF

शिवमंगल सिंह ‘सुमन’ के काव्य में चित्रित सामाजिक विषमता

983-989 हेमलता वि. काटे
PDF

‘‘ हिंदी नाटकों में दलित विमर्श‘‘

990-992 डाॅ. बालाजी बळीराम गरड
PDF

विष्णु प्रभाकर की कहानियों में धार्मिक मूल्य संघर्ष

993-996 डाॅ. एम. आर. मुंडकर
PDF

दुष्यंत कुमार और सुरेश भट की गजल: संवेदना के विविध आयाम

997-1003 डाॅ.नवनाथ गाड़ेकर
PDF

सआदत हसन मंटो की कहानियों मे समाज का यर्थाथ चित्रण

1004-1006 डाॅ. शाहीन एजाज जमादार
PDF

हिंदी कविता में अभिव्यक्त जातिगत विषमता

1007-1013 डाॅ. मीनाक्षी विनायक कुरणे
PDF

सुखी संपन्न जीवनासाठी योग.

1014-1015 अमृता वसंत बोरसे
PDF

व्यक्तिमत्व विकास संकल्पना आणि आरोग्य

1016-1018 प्रा. गवळी माधुरी हरिभाऊ
PDF

योगासनांचा सायकलिंग खेळाच्या कार्यमानावर असलेला संबंध अभ्यासणे”

1019-1022 डॉ. लहानु व्ही. जाधव
PDF

महिलांसाठी योग - एक संजिवनी

1023-1032 डॉ.साधना पाटील
PDF

वित्तीय साक्षरता व वित्तीय समावेशन : लिंग संवेदनशीलता संदर्भ

1033-1043 डॉ.स्मिता पाकधाने
PDF

मानसिक ताण व्यवस्थापनासाठी शिथिलीकरण योगनिद्रा

1044-1047 सौ.सुवर्णा गवळी
PDF

सामाजिक जाणिवेची तिसरी दृष्टी

1048-1057 श्रीमती सुलक्षणा हरी कोळी
PDF

अस्तित्व

1058-1065 राजेश दत्तात्रय झनकार
PDF

धार्मिक कार्यातील व क्षेत्रातील तृतीयपंथीयांचे स्थान

1066-1071 प्रा. निसाळ ए.पी
PDF

समाधि अष्टांग योगचे साध्य

1072-1075 डॉ. मिनाक्षी गवळी, सौ. सारीका निकम
PDF

अनुसूचित जातियो में प्राथमिक शिक्षा के प्रति जागरूकता: एक समाजशास्त्रीय अध्ययन

1076-1080 डाॅ॰ पवन कुमार
PDF

अन्तर्जातीय विवाह: एक समाजिक अध्ययन

1081-1083 निमित प्रसाद
PDF

भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन में महिलाओं की भागीदारीः एक विश्लेषण

1084-1088 डाॅ॰ सुजीत कुमार
PDF

जीवन मूल्य: साहित्य और समाज

1089-1093 डाॅ0 प्रवेश कुमारी
PDF