Main Article Content

Abstract

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ;कोविड.19द्ध ने व्यक्ति के जीवन में भयए चिंताए अवसादए अनिद्राए असमायोजन आदि विकार ने स्थान बना लिया है। जागरूकताए सावधानीए सावचेत आदि से वायरस के निर्जीव कण को खत्म करने हेतु साबुन से हाथ धोनाए मुँह पर मास्क लगानाए सेनेटाइजर करनाए सोशल डिस्टेंसिंगए उचित भोजनए पर्याप्त नींदए पर्याप्त व्यायाम करना आवश्यक है। कमजोर इम्यूनिटीए निर्बल मनए शक्तिहीन विचार ने इस महामारी को सशक्त व मजबूत बनाया है। भय के भूत ने मनुष्य के जीवन में अंधेरा व्याप्त कर दिया है। उजाला होते ही अंधेरे में बैठा मन का भूत समाप्त हो जाता है वैसे ही अभय को आत्म विश्वासए आत्मशक्तिए आत्म ज्योति से अवस्थित रख सकते हैं। इस लेख में विविध उदाहरणों के माध्यम से अभय संचेतना का विकास किये जाने का प्रयास किया है। यह लेख मानसिक बीमारियोंए मानसिक अस्वास्थ्यए मानसिक चिंताए मानसिक डिप्रेशन को रोकने में कारगर हो सकेगा।

Article Details