Main Article Content

Abstract

आज समाज में उपभोक्तावादी संस्कृति के बढ़ते दौर में उत्पादों को उपभोक्ताओं तक पंहुचाने के लिये विज्ञापन एक सशक्त माध्यम बनकर उभरा है। कम्पनियां परम्परागत माध्यमों की अपेक्षा न्यूज पोर्टलों पर पाठकों की निरन्तर बढ़ती संख्या के कारण इनमें अपने विज्ञापनोें के प्रसारण पर ज्यादा जोर दे रहीं हंै। न्यूज पोर्टलों पर उत्पादों के विज्ञापनों को देखने के पश्चात् पाठक अपने दैनिक जीवन में इनकी उपयोगिता के बारे में निर्णय लेते हैं। प्रस्तुत शोध पत्र में शोधकर्ता ने न्यूज पोर्टलों पर दिये जाने वाले विज्ञापनों की उपयोगिता का सूक्ष्म अध्ययन किया है। अतः उसने उत्तर प्रदेश के केन्द्रीय/राज्य विश्वविद्यालयों के पत्रकारिता विभाग में अध्ययनरत् 330 विद्यार्थियों तथा उनमें अध्यापनरत् षैक्षणिक कर्मियों को उद्देश्यपूर्ण प्रतिचयन पद्धति से चयनित कर स्वनिर्मित वेब न्यूज पोर्टल मतावली की मद्द से संबंधित आंकड़ों का संग्रहण किया है। आंकड़ों के विष्लेषणोपरान्त पाया कि- ंद्धण् न्यूज पोर्टलों पर दिखाये जाने वाले विज्ञापनों को ज्यादातर पाठक सामान्य उपयोगी मानते हैं; इद्धण् पुरूष पाठकों की अपेक्षा ज्यादातर महिला पाठक न्यूज पोर्टलों पर दिखाये जाने वाले विज्ञापनों को सर्वाधिक उपयोगी मानती हैं; बद्धण् न्यूज पोर्टलों पर दिखाये जाने वाले विज्ञापनों को 18-25, 25-35 एवं 35-50 वर्ष आयुवर्ग के ज्यादातर पाठक सामान्य उपयोगी तथा 50 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के ज्यादातर पाठक इन्हें अपेक्षाकृत अधिक उपयोगी मानते हैं।

Article Details