Main Article Content

Abstract

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम एक तरह से राष्ट्रीय निर्माण में यज्ञ पीठ माना जा सकता हैए जिसने अनगिनत राष्ट्रीय भक्तों की आहुति लीप्  कथाओं में शायद इससे पहले आबू के पर्वतों उन राजपूत योद्धाओं को पैदा करने के लिए यज्ञ किया गयाए जिसका लक्ष्य भारतीय संस्कृतिए गरिमा तथा गौरव को बचाना था प् फलस्वरूप राष्ट्रीय आंदोलन के पन्नों पर हमारे पास अनंत  युगपुरुष हुए जिन्होंने अपने जीवन तथा परिवारों को राष्ट्रहित में लगा दिया प् इनमें से कुछ प्रमुख मंगल पांडेए रानी लक्ष्मीबाईए बाल गंगाधर तिलकए लाला लाजपत रायए वी डी सावरकरए महात्मा गांधीए जवाहरलाल नेहरूए भगत सिंहए सुभाष चंद्र बोसए चंद्रशेखर आजाद तथा  डॉक्टर भीमराव अंबेडकर हुए प्  इन महापुरुषों में से एक महान पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेलए भारतीय इतिहास में महत्वपूर्ण भूमिका रखते हैं प् उनका योगदान सत्याग्रह आंदोलनए भारतीय स्वतंत्रता के बाद भारतीय रियासतों को भारत विलय के लिए मनानाए हैदराबाद की समस्याओं को सुलझाना तथा पाकिस्तान द्वारा कबीले हमले के वक्त गृहमंत्री के तौर पर जम्मू कश्मीर की रक्षा करना प्रमुख है प्  भारत निर्माण में सरदार पटेल के योगदान का मूल्यांकन करते हुए ही भारत की जनता ने उनका एक विशाल पुतला बनाकर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की है प् सरदार पटेलए राष्ट्रीय एकता की एक ऐसी मिसाल हैए जिन्हें भारतीय इतिहास में हमेशा अमर रखा जाएगा

Article Details