नव इलेक्ट्राॅनिक माध्यमों की भाषा के रुप में हिन्दी

  • पूजा झा

Abstract

विभिन्न विकास चरणों से गुजरते हुए हम आधुनिक और अत्याधुनिक दौर से गुजर रहे हैं। आज के युग में संचार के लिए अनेक माध्यमों का सहारा लिया जाता है, जैसे- शब्द संचार माध्यम, श्रव्य संचार माध्यम तथा नव इलेक्ट्राॅनिक माध्यम आदि। आज हिन्दी इन सभी संचार माध्यमों की प्रमुख भाषा बन चुकी है। सभी जन संचार माध्यमों में इसका व्यापक प्रयोेग हो रहा हैै। आज नव इलेक्ट्राॅनिक माध्यमों के रुप में कम्प्यूटर और इंटरनेट के लिए हिन्दी और देवनागरी लिपि की वैज्ञानिकता इसे विश्व स्तर पर लोकप्रिय बना रही है। आज कम्प्यूटर पर विभिन्न भारतीय भाषाओं और हिन्दी के लिए उपयुक्त कुंजीपटल का विकास हो चुका है। हिन्दी के अनेकानेक साॅफ्टवेयर उपलब्ध है। इंटरनेट पर हिन्दी अधिक प्रभावशाली दिखाई दे रही है। माइक्रोसाॅफ्ट ने हिन्दी के द्वारा भारतीयों के लिए कम्प्यूटर का उपयोग बहुत ही आसान पर दिया है। यही कारण है कि अंग्रेजी नहीं जानने वाले भी इंटरनेट के जरिये अपना काम आसानी से कर रहे हैं। हिन्दी के वेव पोर्टल विभिन्न जानकारियाँ उपलब्ध करा रहे हैं। इस रुप में हिन्दी नव इलेक्ट्राॅनिक माध्यमों की भाषा के रुप में अपनी सशक्त दावेदारी प्रस्तुत कर रही है।

Published
2020-02-09