उच्च एवं निम्न बुद्धि लब्धि वाले किशोर विद्यार्थियों के अनुशासन का तुलनात्मक अध्ययन

  • अल्पना शर्मा

Abstract

       अनुषासन हर देष और समाज के लिए अमूल्य निधि है जिस प्रकार देष और समाज के लिए जीवन में अनुषासन बहुत मूल्यवान है उसी प्रकार व्यक्ति के व्यक्तित्व पर उसके व्यक्तिगत जीवन में भी यह महत्वपूर्ण है। समाज राष्ट्र के लिए विद्यार्थियों की विद्यालय में तैयार किया जाता है अतः विद्यालय में अनुषासन का महत्वपूर्ण स्थान है। आज हमारे देष का प्रत्येक नागरिक अनुषासन के अभाव में देष के भविष्य को अन्धकारमय मानकर चिंतित हो उठा है। वस्तुतः आज हम घर, समाज तथा देष के प्रत्येक क्षेत्र में अनुषासन के अभाव में वीणा के टूटे तारों की भाँति अस्त-व्यस्त स्वरों को अनुभव कर रहे है।

Published
2020-02-07